प्रादेशिक बिहार

बिहार : छठ को लेकर आपदा प्रबंधन विभाग ने सभी DM को दिए जरूरी निर्देश

पटना : 8 नवंबर को नहाय खाय के साथ लोक आस्था का महापर्व छठ पूजा की शुरुआत होगी। छठ पर्व की तैयारियां शुरू हो गयी है। लोक आस्था का महापर्व छठ को लेकर आपदा प्रबंधन विभाग ने सभी जिलों के जिलाधिकारी को निर्देश जारी किया है। आपदा विभाग के सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने बताया कि छठ पर्व को लेकर नदी, तालाबों एवं घाटों पर श्रद्धालु और छठ व्रति पूरे परिवार के साथ पहुंचते हैं। जिसे देखते हुए विशेष तैयारी एवं सतर्कता बरतने की जरूरत है इसी संबंध में आपदा प्रबंधन की ओर से सभी जिलों के डीएम को निर्देश दिया गया है कि वे अपने-अपने जिलों में महापर्व छठ की तैयारी बेहतर तरीके से करें जिससे छठव्रतियों और श्रद्धालुओं को किसी तरह की परेशानी ना हो।

छठ पर्व को लेकर पूरी तैयारियां करने का निर्देश देते हुए संजय अग्रवाल ने कहा कि छठ पर्व के दौरान कोविड 19 के निर्देशों का पालन करना जरूरी है। छठ पर्व के दौरान लोगों की भारी भीड़ उमड़ती है जिसे लेकर खास सावधानियां बरतने की जरुरत है। अत्यधिक भीड़ के कारण कोरोना संक्रमण ना फैले इसे लेकर कोविड प्रोटोकॉल का पालन कराने की आवश्यता होगी। छठ घाटों पर एसडीआरएफ, एनडीआरएफ के साथ-साथ गोताखोर, मोटरबोट चालकों की प्रतिनियुक्ति की जाएगी। आपदा विभाग ने छठ घाटों के जलस्तर की मॉनिटरिंग करने का भी निर्देश दिया है। वही सभी घाटों पर पर्याप्त रोशनी की व्यवस्था करने की भी बात कही गयी। आपदा प्रबंधन विभाग के सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने सभी जिलों के डीएम को छठ पर्व की तैयारियां शुरू करने और बेहतर व्यवस्था किए जाने की बात कही हैं।

खतरनाक नदी/घाटों की कराएं बैरिकेडिंग

आपदा प्रबंधन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने कहा है कि खतरनाक नदी घाटों तालाबों को चिन्हित करते हुए इसका व्यापक प्रचार-प्रसार कराया जाए और उसकी बैरिकेडिंग इस प्रकार से की जाय कि लोगों के डूबने के खतरा न रहे। सभी नदी/ घाटों पर सुरक्षा बल और अन्य वॉलेंटियर्स की प्रतिनियुक्ति की जाये।

क्विक मेडिकल रिस्पांस टीम की होगी प्रतिनियुक्ति

घाटों पर आवश्यक चिकित्सा व्यवस्था सुनिश्चित कराने के लिए चिकित्सकों के साथ पारा मेडिकल टीमों की प्रतिनियुक्ति का निर्देश दिया गया है। उन्होंने कहा है कि घाटों पर आवश्यकतानुसार एंबुलेंस की भी व्यवस्था रखें।

घाटों के किनारे पदाधिकारियों की प्रतिनियुक्ति

घाटों पर निर्बाध रूप से कंट्रोल रूम का संचालन किया जाएगा। आपदा विभाग के सचिव ने कहा है कि घाटों के किनारे पदाधिकारियों की प्रतिनियुक्ति की जाय। सभी महत्वपूर्ण दूरभाष संख्या कंट्रोल रूम में उपलब्ध हो ताकि किसी भी अप्रिय घटना को नियंत्रित करने में सुविधा हो एवं सूचना तुरंत जिला कंट्रोल रूम एवं राज्य आपातकालीन संचालन केंद्र पटना को दी जा सके।

निजी नावों के परिचालन पर रहेगी रोक

छठ पर्व के अवसर पर नहाए खाए से लेकर सुबह के अर्घ्य देने तक निजी नावों के परिचालन पर रोक रहेगी। इसकी निगरानी हेतु छठ घाटों पर मजिस्ट्रेट, पुलिस बल, चौकीदार आदि की तैनाती की जाएगी।

नदी/घटों पर पटाखों की बिक्री एवं उपयोग पर रोक

नदी-घाटों पर पटाखों की बिक्री एवं इसके उपयोग पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध रहेगा। इस अवसर पर 8 नवंबर से 11 नवंबर तक नदी घाटों एवं जल स्रोत जहां छठ पूजा की अनुमति हो पटाखों की बिक्री पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध रहेगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *