आलेख

सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन (जयंती विशेष) : ‘अज्ञेय’ उपनाम नहीं, एक ‘मकसद’

डेस्क कवि रूप में अज्ञेय का निश्छल भोलापन हमें अगर अनायास खींचता है तो उनकी कहानियों और उपन्यासों के पात्र विवश करते हैं कि हर सवाल पर फिर से सोचा जाए. जो उसको जानता है, उसके लिए वो अज्ञात है. जो उसको नहीं जानता उसके लिए वो ज्ञात है’ ( स्रोत – केन उपनिषद) अज्ञेय […]

आलेख

जयंती विशेष : ऐसे थे देश के पहले स्टार्टअपमैन जमशेदजी टाटा…!

डेस्क  टाटा उद्योग समूह के संस्थापक जमशेदजी नौसेरवान जी टाटा की आज जयंती मनायी जा रही है. यह जमशेदजी की दूरदृष्टि ही थी, जिसपर काम कर उन्होंने गुलाम भारत में स्वदेशी का झंडा उठाते हुए औद्योगिक भारत की नींव रखी और इसका केंद्र बना जमशेदपुर. कैसे? आइए जानें- थॉमस कार्लाइल का वह भाषण स्कॉटलैंड के […]

आलेख

चंद्रशेखर आजाद (पुण्यतिथि विशेष) : मां करती रही इंतजार, हो गए देश के लिए शहीद

डेस्क  23 जुलाई 1906 को मध्यप्रदेश भावरा में चंद्रशेखर तिवारी का जन्म हुआ था। उनेक पिता का नाम सीताराम तिवारी और मां जगरानी देवी थी। जिनकी इकलौती औलाद चंद्रशेखर थे। किशोर अवस्था में ही वह बड़े – बड़े सपनों को पूरा करने के लिए अपना घर छोड़कर मुंबई निकल पड़े थे। जहां उन्होंने बंदरगाह में […]

आलेख

जयंती विशेष : क्षत्रपति शिवाजी : मुगलों को घुटने टेकने पर किया मजबूर, जानें ‘हिंदू हृदय सम्राट’ से जुड़े 10 महत्वपूर्ण तथ्य

डेस्क हिंदू हृदय सम्राट व भारत के पराक्रमी मराठा शासक क्षत्रपति शिवाजी महाराज से देश का बच्चा-बच्चा वाकिफ है. पूरे देश में लोग उनके सम्मान में महाराज के नाम से पहले क्षत्रपति शब्द का प्रयोग करते हैं. ऐसे परम पराक्रमी मराठा शासक की आज जयंती है. क्षत्रपति शिवाजी महाराज भारत के एक ऐसे शासक रहे, […]

आलेख

जयंती विशेष : सादगी की प्रतिमूर्ति थे जननायक कर्पूरी ठाकुर

डेस्क बिहार के मुख्‍यमंत्री रहे कर्पूरी ठाकुर को उनकी सादगी भरे जीवन के लिए याद किया जाता है। कर्पूरी ठाकुर ही नहीं, उनके स्वजन भी बहुत सामान्य जीवन जीते थे। कर्पूरी ठाकुर बिहार के पहले गैर-कांग्रेसी मुख्यमंत्री थे। वो राज्य में दो बार मुख्यमंत्री और एक बार उप मुख्यमंत्री रहे। 1952 में हुए पहली विधानसभा […]

आलेख

जयंती विशेष : ‘कल्याणी केबिन’ के उद्घाटन में मुजफ्फरपुर आए थे नेताजी सुभाष चन्द्र बोस

डेस्क नेता जी सुभाष चन्द्र बोस का बिहार के मुजफ्फरपुर जिले से एक खास रिश्ता था। भले ही नेता जी यहां सार्वजनिक रूप से एक बार ही आए हों, लेकिन वह क्रांतिकारियों के दिल में बसते थे। नेता जी की 125वीं जयंती पूरे देश में मनाई जा रही है। इसी के तहत मुजफ्फरपुर में उनसे […]

आलेख

अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस : बेहतर मानव अधिकारों के लिए फिर से खड़े हो जाओ…

न्यूज वॉच डेस्क आज अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस (International Human Rights Day 2020) है. 10 दिसंबर को पूरी दुनिया में ये दिन मनाया जा रहा है. हर किसी के लिए इस दिन के मायने बेहद अहम हैं. भारत सहित दूसरे देशों में हर किसी के लिए अपने अधिकारों का महत्व है. संयुक्त राष्ट्र ने मानवाधिकार दिवस […]

आलेख सोशल मीडिया स्वास्थ्य

स्वास्थ्य : रात का खाना सही समय पर ही खाना

रात का खाना जल्दी खाने के फायदे : डाइटीशियन प्रियंवदा “एक राजा की तरह नाश्ता खाओ , एक राजकुमार की तरह दोपहर का भोजन और एक कंगाली की तरह रात का खाना।” सबसे लोकप्रिय बात जो हम में से अधिकांश जानते हैं। लेकिन, हम में से अधिकांश इस उद्धरण का उल्टा पालन करते हैं, अर्थात, […]

आलेख सोशल मीडिया हमारे बारे में

फ्रेंडशिप डे :- किसकी मित्रता की याद में मनाया जाता है

दोस्ती :- एक ऐसा शब्द है जिसे सुनते ही चेहरे पर मुस्कान आ जाती है। दो हस्तियों का एक दूसरे के प्रति समर्पण और निःस्वार्थ प्रेम , एक दूसरे के सुख में सुखी और दुख में दुखी , भले बुरे का बोध कराना, हर विकट परिस्थितियों में साथ निभाना, यही तो है सच्ची मित्रता। एक […]

आलेख प्रादेशिक

सरकारी स्कूल के शिक्षकों का दर्द समझने वाला कोई नहीं…!

बिहार के सरकारी स्कूल के शिक्षकों से बच्चों को पढ़ाने का काम छोड़ कर शेष सारे काम लिए जाते हैं क्योंकि अपने तुगलकी फरमानों से मुहम्मद बिन तुगलक को भी चमकृत करने वाले मुख्यमंत्री नितीश कुमार और उनके खुशामदी नौकरशाह यह मानते हैं बिहार में शिक्षा और शिक्षकों का सम्मान इतना अधिक महत्वपूर्ण नहीं है […]