मनोरंजन

Defamation Case : कंगना को पेशी में छूट देने का जावेद अख्तर के वकील ने किया विरोध

डेस्क  : मुंबई की एक कोर्ट द्वारा 4 जनवरी को कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के खिलाफ दायर की गई गैर-जमानत याचिका को खारिज कर दिया गया. मानहानि केस में ये याचिका दिग्गज लेखक जावेद अख्तर (Javed Akhtar) द्वारा एक्ट्रेस के खिलाफ पिछले महीने यानी दिसंबर 2021 में दायर की गई थी. मंगलवार की सुनवाई के दौरान एक बार फिर से कंगना कोर्ट में पेश नहीं हुईं. 4 जनवरी को 10वीं मेट्रोपिलटन मजिस्ट्रेट कोर्ट ने सुनवाई के लिए कंगना को पेशी में छूट दी थी, क्योंकि उनके वकील ने कोर्ट से ये कहा था कि एक्ट्रेस की तबीयत ठीक नहीं है. हालांकि, कंगना को छूट दिए जाने पर जावेद अख्तर के वकील ने कोर्ट में अपनी आपत्ति दर्ज कराई है.

एक रिपोर्ट के अनुसार, मंगलवार को हुई सुनवाई के दौरान कंगना रनौत की ओर से पेश वकील रिजवान सिद्दीकी ने यह कहते हुए एक्ट्रेस की उपस्थिति से छूट मांगी थी कि कंगना खराब मौसम में ट्रैवल कर रही थीं और उनकी तबीयत ठीक नहीं है. उन्होंने आगे कहा कि अभिनेत्री ने पहले ही ये बात कही थी कि उनकी याचिका उनके वकील द्वारा दर्ज की जा सकती है और इसलिए उनकी उपस्थिति की वास्तव में आवश्यकता नहीं थी. कंगना के वकील रिजवान की बातें सुनने के बाद कोर्ट ने ये कहा कि प्रक्रिया के मुताबिक शिकायतकर्ता द्वारा आरोपी ठहराए गए शख्स का सुनवाई के लिए उपस्थित होना चाहिए.

रिजवान की बातें सुनने के बाद कोर्ट ने मंगलवार की सुनवाई में पेशी से कंगना को छूट दी गई. हालांकि, जावेद अख्तर के वकील जय भारद्वाज ने इस छूट पर अपनी आपत्ति दर्ज कराई है. उन्होंने कहा कि पिछली सुनवाई के दौरान यह तय किया गया था कि सुनवाई की तारीख आज यानी 4 जनवरी को होगी और कंगना रनौत को पहले से ही पता था कि उन्हें पेश होना है. जावेद अख्तर खुद मंगलवार को कोर्ट के समक्ष मौजूद थे, क्योंकि वह आमतौर पर सुनवाई की अधिकांश तारीखों में मौजूद रहते हैं. जय भारद्वाज ने यह भी आरोप लगाया कि पूरे ट्रायल में देरी हो रही है क्योंकि यह मामला केवल कंगना रनौत की याचिका को दर्ज करने के लिए रुका हुआ है और उनके पेश नहीं होने पर इसे रिकॉर्ड नहीं किया जा रहा है.

बता दें कि कोर्ट में पेशी को लेकर कंगना रनौत सहमत नहीं हैं और उन्होंने ये आरोप भी लगाया था कि मजिस्ट्रेट द्वारा उन्हें परेशान किया जा रहा है. अपनी पहली याचिकाओं में कंगना ने मुख्य मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट कोर्ट से गुहार लगाई थी कि जावेद अख्तर की शिकायत को दूसरी कोर्ट में स्थानांतरित किया जाना चाहिए. हालांकि, इसे खारिज कर दिया गया था. वह अपने इस अनुरोध के साथ डिंडोशी कोर्ट भी गईं, लेकिन इसे फिर से खारिज कर दिया गया. इसके बाद अब कंगना के वकील रिजवान सिद्दीकी ने मंगलवार को कोर्ट को बताया कि कंगना रनौत अब बॉम्बे हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *