राष्ट्रीय

भारत की मदद को एक साथ आगे आए गूगल और माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ, सुंदर पिचाई देंगे 135 करोड़ का फंड तो सत्या नडेला करेंगे ऑक्सीजन उपकरणों की खरीद में मदद

कोरोना की मार से लथपथ भारत की मदद को सामने आए ब्रिटेन, अमेरिका और फ्रांस

गूगल के सीईओ सुंदर पचाई करेंगे 135 करोड़ की मदद

माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला ऑक्सीजन उपकरणों की खरीद में बढ़ाएंगे मदद के लिए हाथ

अभियान चलाने वाले कर्मचारियों का अनुदान भी है शामिल

नई दिल्ली : देशभर में तेजी से फैल रहे कोरोना संकट के बीच गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई (Google CEO Sundar Pichai) मदद के लिए आगे आए हैं. उन्होंने कोरोना के चलते भारत के हालात को देखते हुए 135 करोड़ रुपये के रिलीफ फंड की घोषणा की है. इसके अलावा माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला ने भी मदद के लिए हाथ बढ़ाया है. नडेला ने आज कहा कि कंपनी भारत को राहत देने का प्रयास कर रही है. इसके अलावा ऑक्सीजन उपकरण खरीदने में भी मदद करेगी.

Google के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुंदर पिचाई ने अनुदान देने के लिए यूनिसेफ और गेटइंडिया को 135 करोड़ रुपये के राहत कोष का ऐलान किया है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि गूगल और उनकी टीम मेडिकल सप्लाई करेंगी.
इसके साथ ही हाई रिस्क वाली कम्युनिटी की मदद करने वाले संगठनों की भी मदद करेंगे. बता दें यह ऐसे समय है, जब भारत ने COVID-19 के कारण 3.5 लाख से अधिक नए मामले दर्ज किए हैं और 2,800 से अधिक मौतें दर्ज की हैं.

बता दें कि  पिचाई ने एक ब्लॉग पोस्ट शेयर किया है, जिसमें कंपनी भारत को गंभीर स्थिति से निकालने के प्रयासों के बारे में विस्तार से बता रही है. कंपनी के प्रमुख और वीपी संजय गुप्ता के हस्ताक्षर वाले ब्लॉग पोस्ट में कहा कि 135 करोड़ रुपये के फंडिंग में Google.org से दो ग्रेन शामिल हैं, जिनकी कुल कीमत 20 करोड़ रुपये है.

इसमें पहला अनुदान गेटइंडिया के लिए है, ताकि अपने रोजमर्रा के खर्चों में मदद करने के लिए संकट से पीड़ित परिवारों को नकद सहायता प्रदान की जा सके. इसके अलावा दूसरा अनुदान यूनिसेफ को जाएगा, जो ऑक्सीजन और परीक्षण उपकरणों सहित तत्काल चिकित्सा आपूर्ति प्राप्त करने में मदद करेगा, जिसकी भारत में इस समय सबसे ज्यादा जरूरत है.इसके अलावा अनुदान में अभियान चलाने वाले कर्मचारियों का दान भी शामिल है. ब्लॉग पोस्ट में कहा गया है कि अब तक 900 से अधिक Google कर्मचारियों ने हाई रिस्क वाले वाले देशों का समर्थन करने वाले संगठनों के लिए 3.7 करोड़ रुपये का योगदान दिया है.

सत्या नडेला ने ट्वीट किया

वहीं सत्या नडेला ने ट्वीट करके कहा कि ‘मैं भारत की वर्तमान स्थिति से बहुत दुखी हूं. मैं आभारी हूं कि अमेरिकी सरकार मदद करने में जुट गई है. माइक्रोसॉफ्ट राहत प्रयासों में सहायता के लिए अपनी आवाज, संसाधनों और टेक्नोलॉजी का उपयोग करना जारी रखेगा. साथ ही महत्वपूर्ण ऑक्सीजन कन्सन्ट्रेशन डिवाइस की खरीद में मदद करेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *