साहित्य

हास्य-व्यंग्य : चतुरी चाचा के प्रपंच चबूतरे से (नागेन्द्र बहादुर सिंह चौहान)

चतुरी चाचा के प्रपंच चबूतरे से


नागेन्द्र बहादुर सिंह चौहान

(वरिष्ठ पत्रकार-साहित्यकार, यूपी)

मैं आज प्रपंच चबूतरे पर जब पहुंचा तो चतुरी चाचा, कासिम चचा एवं मुंशीजी विराजमान हो चुके थे। तीनों लोग अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव और बिहार के विधानसभा चुनाव को लेकर चर्चा कर रहे थे। चतुरी चाचा ने अमेरिका में जो बाइडेन के राष्ट्रपति और बिहार में एनडीए सरकार फिर से बनने की भविष्यवाणी कर दी। वहीं, कासिम चचा बिहार में नीतीश कुमार के पराजित होने की बात कर रहे थे। जबकि मुंशी जी अमेरिका में डोनाल्ड ट्रंप की वापसी होने की संभावना जता रहे थे। चतुरी चाचा अपनी बात पर अडिग थे। इसी चर्चा के दौरान का ककुवा व बड़के दद्दा भी पधार गए।
चतुरी चाचा बोले- सब जने लिख कय धरि लेव। अमेरिका मा राष्ट्रपति पद केरी शपथ जो बाइडेन अउर बिहार मा मुख्यमंत्री पद केरी शपथ नीतीश कुमार ल्याहैं। इस पर मोहर लगाते हुए ककुवा बोले- चतुरी भाई तुमरी बाति मा बड़ी दम हय। हमारव मनु यहि कह रहा। अखबार अउ टीवी सब यहि संभावना जताय रहे। बिहार मा एनडीए सरकार सड़क, बिजली, पानी पय खरी उतरी हय। नीतीश कानून व्यवस्था ठीक किहिन। बिहार मा शराबबन्दी लागू किहिन। इहिके बादिव कुछ लोग उन ते नाराज रहयँ। मुला, नरेन्द्र मोदी अउ योगी आदित्यनाथ ने ताबड़तोड़ सभाएं कइके एनडीए केरी फिजा बनाय दिहिन।

इसी दौरान चंदू बिटिया नींबू वाला गुनगुना पानी व गिलोय का काढ़ा लेकर आ गयी। सबने पानी पीकर काढ़े का कुल्हड़ उठा लिया। बड़के दद्दा ने बतकही को आगे बढ़ाते हुए कहा- बिहार का चुनाव सही मायने में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर केंद्रित हो गया था। हालांकि, लालू यादव के बेटे तेजस्वनी यादव और रामविलास पासवान के सुपुत्र चिराग पासवान ने नीतीश कुमार को उखाड़ फेंकने में सारी ताकत झोंकी है। अब 10 नवम्बर को जब परिणाम आएगा। तब पता चलेगा कि मोदी का जादू बिहारियों के सिर पर चढ़कर बोला या नहीं।
हमने कहा- अमेरिका के बारे में मेरा मानना है कि वहां डॉनल्ड ट्रम्प बड़बोलेपन, कोरोना महामारी व अश्वेत उत्पीड़न के कारण पिछड़ गए। जो बाइडेन ने इन्हीं कमियों का फायदा उठाया। बाइडेन ने भारतवंशियों का समर्थन हासिल करने के लिए भी एक निराली चाल चली थी। उन्होंने अपने साथ भारतीय मूल की कमला हैरिस को उप राष्ट्रपति पद का चुनाव लड़ाया था। जो बाइडेन का राष्ट्रपति बनना लगभग तय हो चुका है। हालांकि, अभी कुछ राज्यों में मतगणना हो रही है।
मुंशीजी ने विषय परिवर्तन करते हुए कहा- करवाचौथ निबट गया। अब दीपावली का पर्व सामने है। उसके बाद छठ पूजा होगी। शादियों का भी दौर जारी है। इसकी वजह से आजकल बाजार में खूब भीड़भाड़ हो रही है। लोग कोरोना महामारी को जैसे भूल ही गए हैं। न कोई दो गज की दूरी का पालन कर रहा है, और न कोई मॉस्क लगा रहा है। हाथ धोने का सिलसिला भी बन्द कर दिया है। यह सब बहुत गलत हो रहा है। हमें याद रखना चाहिए कि कोरोना महामारी के चलते होली के बाद सारे पर्व-त्योहार बेकार गए। हम सबको कितने महीने घरों में कैद रहना पड़ा। कोरोना से लड़ते-लड़ते पूरा साल बीत गया। अब जाकर कोरोना की रफ्तार सुस्त हुई है। इसलिए हमें अभी मॉस्क लगाकर दो गज की दूरी का पालन करना चाहिए।

कासिम चचा बोले- मुंशीजी, तुम सही कह रहे हो। हम सबको अभी कोरोना से सतर्क ही रहना होगा। हमें कोविड-19 के सभी नियमों का पालन करना चाहिए। सुना है कि ठंडक में कोरोना की दूसरी लहर आएगी। यूरोप में कोरोना की दूसरी लहर आ गयी है। भारत में भी कोरोना रफ्तार बढ़ा सकता है। दुनिया में अभी तक कोरोना की कोई वैक्सीन नहीं बन सकी है। ऐसे में सावधानी ही कोरोना की दवा है। प्रधानमंत्री मोदी ने भी कहा है कि जबतक नहीं दवाई, तबतक नहीं ढिलाई।
चतुरी चाचा बोले- रिपोर्टर, कोरोना की बात चल रही है। इसी में तुम अपना कोरोना अपडेट भी दे दो। फिर आज की पंचायत समाप्त की जाए। मुझे पेंट लेने अभी बाजार जाना है। घर की पुताई हो जाए। तब मुझे सुकून मिले। फिर खेती-बाड़ी का ही काम रहेगा। हमने बताया कि विश्व में अबतक पांच करोड़ लोग कोरोना से पीड़ित हो चुके हैं। दुनिया भर में साढ़े 12 लाख लोग बैमौत मारे जा चुके हैं। भारत में अबतक 84 लाख व्यक्ति कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। इनमें से सवा लाख व्यक्ति स्वर्ग सिधार गए। यूपी में पांच लाख लोग पीड़ित हो चुके हैं। जबकि सात हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, छत्तीसगढ़ में 23 हजार से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं। जबकि करीब ढाई हजार लोगों की मौत हो चुकी है।

चतुरी चाचा ने अंत में सबको धनतेरस व दीपावली की बधाई देते हुए कहा कि आप लोग दिवाली में कोई भी चाइनीज वस्तु न खरीदें। इसी के साथ आज का प्रपंच सम्पन्न हो गया। मैं अगले रविवार को पुनः चतुरी चाचा के प्रपंच चबूतरे पर होने वाले प्रपंच के साथ हाजिर रहूँगा। तबतक के लिए पँचव राम-राम!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *