अंतरराष्ट्रीय

नई दिल्ली : “एयर इंडिया वन” का इंतजार हुआ खत्म, अमेरिका से दिल्ली के लिए हो चुका रवाना

भारत के वीवीआइपी बेड़े के लिए एयर इंडिया वन(Air India One) का  इंतजार हुआ खत्म

आज किसी भी वक्त अमेरिका से दिल्ली इंटरनेशल हवाई अड्डे पर पहुंच सकता है विमान

राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और प्रधान मंत्री के लिए दो वीवीआईपी एयर इंडिया वन विमानों में से होगा पहला विमान

जुलाई में ही होनी थी आपूर्ति, कोरोना की वजह से करनी पड़ी रद्द

डेस्क : भारत के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री के लिए खरीदे गए दो बोइंग-777 विमान तैयार हो गए हैं। भारत को मिलने वाले इन दो नए विमानों का इस्तेमाल प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति की उड़ान के लिए किया जाएगा, जिसे वायु सेना के पायलट उड़ाएंगे।

बता दें कि एयर इंडिया वन अग्रिम और सुरक्षित संचार प्रणाली से लैस है जो हैक किए गए या टैप किए बिना मध्य-हवा में ऑडियो और वीडियो संचार फंक्शन का लाभ उठा सकता है। राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री के लिए नए डिजाइन किए गए वीआईपी विमान आज अमेरिका से आ रहे हैं।

इन दोनों विमानों को भारतीय वायुसेना के पायलट ऑपरेट करेंगे। हालांकि, इन दोनों नए विमानों का मेंटेनेंस एयर इंडिया इंजीनियरिंग सर्विसेज लिमिटेड (AIESL) द्वारा किया जाएगा। इन वीवीआईपी विमानों की आपूर्ति पहले जुलाई में होनी थी लेकिन कोरोना महामारी के कारण नहीं हो पाई।

फिलहाल देश में प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और उप राष्ट्रपति एयर इंडिया के B747 विमान से यात्रा करते हैं। प्रधानमंत्री और अन्य वीवीआइपी लोगों द्वारा इस्तेमाल होने वाले इन विमानों को “एयर इंडिया वन” कहा जाता है। अधिकारियों ने बताया कि इससे पहले पीएम समेत वीवीआइपी लोगों के इस्तेमाल में लगे B747 विमानों का इस्तेमाल वाणिज्यिक परिचालन के लिए किया जाएगा।

दोनों B-777 विमानों का इस्तेमाल देश के वीवीआइपी लोगों की यात्रा के लिए किया जाएगा। यह दोनों विमान साल 2018 में कुछ समय के लिए एयर इंडिया के वाणिज्यिक विमानों के बेड़े में शामिल थे। इसके बाद इन दोनों विमानों को कस्टमाइज करने के लिए वापस बोइंग भेज दिया गया था। दोनों B777 विमान स्टेट-ऑफ-द-आर्ट मिसाइल डिफेंस सिस्टम्स से लैस होंगे।

क्या है एअर इंडिया वन विमान में खास

प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति, उप राष्ट्रपति के लिए बनाया गया ये खास विमान कई खूबियों से लैस है। इसमे मिसाइल एप्रोच वार्निंग सिस्टम लगाया गया है, जिसमें लगे सेंसर की मदद से पायलट को मिसाइलों पर हमला करने में मदद मिलती है। इसके अलावा विमान में इलेक्ट्रोनिक वॉरफेयर जैमर लगा होता है, जिससे दुश्मन के जीपीएस और ड्रोन सिग्नल को ब्लॉक करने में मदद मिलती है।

एयर इंडिया वन विमान में डायरेक्शनल इंफ्रारेड काउंटरमेजर सिस्टम लगा होता है, यह एक मिसाइल रोधी सिस्टम है, जो विमान को इंफ्रारेड मिसाइल से बचाती है। एयर इंडिया वन विमान में डायरेक्शनल इंफ्रारेड काउंटरमेजर सिस्टम लगा होता है। यह एक मिसाइल रोधी सिस्टम है जो विमान को इंफ्रारेड मिसाइल से बचाती है। इसके अलावा विमान की कुछ और खासियतों में चाफ एंड फ्लेयर्स प्रणाली है, जो रडार ट्रैकिंग मिसाइल से खतरा होने पर विमान को सुरक्षा प्रदान करती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *