राष्ट्रीय

दिल्ली के सराय काले खां के पार्कों में होगा कोरोना मृतकों का दाह संस्कार, श्मशानघाट में जगह और समय की हो रही कमी से सरकार ने लिया फैसला

नई दिल्ली : कोरोना वायरस से लगातार हो रही मौतों से जहां एक खौफ का माहौल है वहीं लाशों को जलाने के लिए अब श्मशानों में जगह कम पड़ गई है। ऐसे में सरकार ने निर्णय लिया है कि कोरोना मृतकों के अंतिम संस्कार अब पार्क में किए जाएंगे।

दिल्ली में रोजाना संक्रमण के नए मामलों के साथ ही सैकड़ों लोग कोरोना की जद में आकर दम तोड़ रहे हैं। हालात ये हो गए हैं कि श्माशान घाटों पर लाश जलाने के लिए लंबी-लंबी कतारें लग रही हैं। दिल्ली के सराय काले खां में आलम कुछ ऐसा है कि रूह छोड़ चुकी शरीरों के दाह संस्कार के लिए पार्क में अंतिम संस्कार की व्यवस्था बनाई जा रही है।सराय काले खां के हरे भरे पार्क में जहां लोग टहलने और हवा खाने आते थे, अब यहां लोगों की चिताओं को अग्नि देने की व्यवस्था की जा रही है।

सराय काले खां में पार्क में लाश जलाने के लिए नए प्लेटफार्म तैयार किए जा रहे हैं। फिलहाल यहां 20 प्लेटफॉर्म तैयार किए जा रहे हैं। जबकि पार्क के दूसरे हिस्से में ही 50 प्लेटफॉर्म तैयार किया जा रहा है। प्लेटफॉर्म तैयार करने वाले ठेकेदार का कहना है कि लाशें इतनी आ रही हैं कि श्मशान घाट छोटा पड़ गया है। इसलिए यह बनाया जा रहा है। ठेकेदार का कहना है कि लाश जलाने के लिए जगह के साथ-साथ लकड़ियां भी कम पड़ गई हैं। लाश जलाने के लिए कुछ लकड़ियां एमसीडी की तरफ से आ रही हैं तो कुछ कोई और भेज देता है। हालात काफी खराब हैं।

ऐसा नहीं है कि दिल्ली के सराय काले खां में श्मशान घाट नहीं हैं। श्माशान घाट तो हैं लेकिन रोजाना मौतें इतनी ज्यादा हो रही हैं कि श्मशान घाट पर समय से सभी का अंतिम संस्कार हो सके, ऐसा संभव नहीं हो पा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *