राष्ट्रीय

ममता बनर्जी : कोई मुझे हिंदू धर्म नहीं सिखाए, मैं भी हूं हिंदू ब्राह्मण की बेटी

कोलकाता : पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव (West Bengal Assembly Election) के पहले बंगाल की सीएम (CM) और टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने फिर हिंदू कार्ड खेला. पश्चिम बंगाल के पश्चिम मेदिनीपुर के चंद्रकोणा (Chandrakona) में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि हमें हिंदू धर्म ( Hindu Religion) सीखा रहे हैं. मैं भी हिंदू ब्राह्मण की बेटी हूं. आप से ज्यादा हिंदू धर्म जानती हूं. मेरे लिए सभी समान हैं. सभी जाति और धर्म के लोग समान हैं.

उन्होंने कहा, ” मैं लोगों में भेदभाव नहीं करती हूं. मुझे मेरे मां-पिता ने भेदभाव करना नहीं सिखाया है. मेरे घर में जो बाउरी महिला काम करती हैं. चार महिलाएं काम करती थी. सभी को नौकरी दे दी हैं.”

खुद डैकतों के सरदार हैं, दूसरे को कहते हैं चोर

ममता बनर्जी ने कहा कि सभी को चोर कह रहे हैं, लेकिन खुद डकैतों के सरदार हैं. बीजेपी क्या कर रही है ? नोटबंदी का पैसा कहां गया ? बैंकों का पैसा कहां गया ? सब कुछ बिक्री कर रहे हैं और अब बंगाल को ‘सोनार बांग्ला’ बनाने की बात कर रहे हैं. ‘सोनार बांग्ला’ भी नहीं बोल पाते हैं. ‘सोनार बांग्ला’ को ‘शोनार बांग्ला’ बोलते हैं. रवींद्रनाथ टैगोर की जन्म स्थली जोड़ासांकू को बताते हैं. विद्यासागर की मूर्ति तोड़ते हैं. गुजरात के दंगा के नायक हैं. यदि दंगा करेंगे, मुझे पंगा लेने का साहस है.

दाढ़ी रखने से हर कोई नहीं हो जाता है रवींद्रनाथ

उन्होंने कहा कि देने की क्षमता नहीं है और पैसा देने की बात कर रहे हैं. सब कुछ ले ले रहे हैं. दाढ़ी रहने पर सभी रवींद्रनाथ नहीं हो जाता है. दाढ़ी रखने का स्टाइल रामकृष्ण परमहंस का अलग है. सभी का स्टाइल अलग-अलग है. उन्होंने कहा, “आपके बीच कुछ गद्दार आए हैं. वे सीपीएम कांग्रेस के साथ हाथ मिलकर अल्पसंख्यकों को वोट काटने की बात कर रहे हैं. बीजेपी से पैसा लेकर अल्पसंख्यकों वोट काटेंगे. वोट काटने के लिए कितना पैसा लिए हैं ? ”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *