आलेख

अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस : बेहतर मानव अधिकारों के लिए फिर से खड़े हो जाओ…

न्यूज वॉच डेस्क

ज अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस (International Human Rights Day 2020) है. 10 दिसंबर को पूरी दुनिया में ये दिन मनाया जा रहा है. हर किसी के लिए इस दिन के मायने बेहद अहम हैं. भारत सहित दूसरे देशों में हर किसी के लिए अपने अधिकारों का महत्व है. संयुक्त राष्ट्र ने मानवाधिकार दिवस को मनाने की घोषणा 1950 में की थी. तब से लेकर आज भी पिछले 70 सालों से ये दिन 10 दिसंबर को मनाया जाता है.

इस दिन के लिए एक थीम रखी जाती है. इस साल भी मानवाधिकार दिवस की थीम रखी गई है. इस बार की थीम ‘बेहतर-मानव अधिकारों के लिए फिर से खड़े हो जाओ’ (Recover Better-Stand Up For Human Rights) है. ये थीम कोरोना वायरस के चलते रखी गई है. कोरोना वायरस के पूरी दुनिया के इंसानों के अधिकारों के सामने मुश्किल खड़ी कर दी है.

मानवाधिकार दिवस का उद्देश्य दुनिया का ध्यान मानवों के अधिकारों की ओर ध्यान आकर्षित कराना है. इस दिन विश्वभर के लोगों को मानवाधिकारों के महत्व के प्रति जागरूक करना और इसके पालन के प्रति सजग रहने का संदेश दिया जाता है. इस उद्देश्य है संयुक्त राष्ट्र (United Nations) ने 10 दिसंबर, 1950 में इस दिन की घोषणा की थी. इतना ही नहीं तब मानव अधिकारों की जो घोषणा की गई थी, वो 500 से ज्यादा भाषाओं में उपलब्ध है. मानवाधिकार दिवस के मौके पर संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरस ने कहा है कि कोरोना वायरस से लड़ने के लिए हमें एकजुट कोशिश करनी होगी, लैंगिक समानता, जनभागीदारी की जरूरत होगी. इसके साथ ही जलवायु, और लम्बे समय तक चलने वाला टिकाई विकास करना होगा, जिसमें मानवाधिकार का महत्व भी हो.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *