खेल

मुस्लिम होकर भारत के लिए क्यों खेलते हो? पाक में पूछे गए इस सवाल का इरफान ने दिया ऐसा जवाब

Follow us

नई दिल्ली। संसद में नागरिकता संशोधन कानून पास होने के बाद से ही कई जगहों पर इसका विरोध हो रहा है। इस दौरान जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी में विरोध प्रदर्शन कर रहे छात्रों पर पुलिस की कार्रवाई की कई जानी-मानी हस्तियों ने आलोचन की। इन्हीं लोगों में भारतीय क्रिकेटर इरफान पठान भी शामिल, जिन्होंने छात्रों पर हुए हमलों पर विरोध जताते हुए ट्वीट किया। हालांकि इस ट्वीट के बाद उन्हें बहुत ट्रोल किया गया, जिसके बाद एक बार फिर इरफान ने आगे आकर इसका विरोध किया कि वह भारतीय हैं और अपने देश में अपनी बात रखना उनका हक है। इस दौरान इरफान ने अपने पाकिस्तान दौरे को याद करते हुए एक किस्सा बताया जहां उनके धर्म पर सवाल उठाया गया था।

इरफान पठान ने बताया कि साल 2004 में दोस्ताना सीरीज के लिए पाकिस्तान गए थे। इस दौरान वह राहुल द्रविड़, पार्थिव पटेल और लक्ष्मीपति बालाजी के साथ लाहौर के एक कॉलेज में गए जहां लगभग 1500 बच्चे मौजूद थे और उनसे सवाल कर रहे थे।

यह भी पढ़ें- युवराज के जन्मदिन पर सचिन ने इंस्टाग्राम पर साझा की तस्वीर

इनके बीच एक लड़की खड़ी हुई और बेहद गुस्से में इरफान पठान से पूछा कि अगर वह मुस्लिम हैं तो भारत की तरफ से क्यों खेलते हैं? इरफान ने बताया, ‘मैं खड़ा हुआ और कहा मैं भारत से खेलकर उसपर कोई एहसान नहीं कर रहा हूं। भारत मेरा देश हैं। मेरे पूर्वज भारत के हैं। मैं भाग्यशाली हूं कि इसका प्रतिनिधित्व कर पा रहा हूं। मेरा जवाब सुनकर कॉलेज में सबने तालियां बजाई।’

इरफान पठान ने कहा कि जब वह गेंदबाजी करते हैं वह यह नहीं सोचते कि वह एक मुस्लमान है, क्योंकि वह खुद को सबसे पहले भारतीय मानते हैं। पठान ने कहा कि अगर वह पाकिस्तान जाकर उनके सामने अपने देश के लिए यह कह सकते हैं तो अपने ही देश में अपनी बात क्यों नहीं रख सकते हैं। इरफान पठान ने ट्वीट किया था, ‘राजनीति में आरोप-प्रत्यारोप का दौर चलता रहेगा लेकिन मैं और हमारा देश जामिया मिलिया के छात्रों के लिए परेशान है।’ उनके इस ट्वीट के बाद वह ट्रोलर्स के निशाने पर आ गए। इरफान पठान ने इसपर नाराजगी जताते हुए कहा, ‘जब मैंने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के खिलाफ ट्वीट किया तब मैं सबका लाडला था और अब जब मैं अपने छात्रों के बारे में बात कर रहा हूं अब मैं गलत हूं, ऐसा क्यों’।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *