नारी

जब अपना मेकअप खुद करना हो…(प्रियंका झा, मेकअप आर्टिस्ट)

जब अपना मेकअप खुद करना हो…

 

(प्रियंका झा, मेकअप आर्टिस्ट)

भी सोच कर देखें कि अगर किसी गेट टूगेदर में जाना हो और पार्लर में जाने का टाइम नहीं हो या फिर सेफ्टी के तौर पर घर में मेकअप करना है, तो किन बातों को ध्यान में रख कर परफेक्ट मेकअप किया जा सकता है? मेकअप आर्टिस्ट मानते हैं कि मेकअप में सबसे खास बात ध्यान में रखने वाली है कि मेकअप प्रोडक्ट्स एक्सपायर्ड ना हों। अगर ऐसा हुआ, तो आंखों में काजल का स्मूद फ्लो नहीं आएगा, आई लाइनर की पपड़ियां उतरने लगेंगी और पुरानी लिपस्टिक के अपना एक्चुअल कलर खोने की वजह से पूरा मेकअप बुझा-बुझा दिखने लगेगा। पुराना आई शैडो और ब्लश ऑन एक घंटे के बाद ही फीका पड़ने लगता है। अच्छा होगा कि फ्रेश मेकअप प्रोडक्ट्स के अलावा, मेकअप टूल्स और एप्लिकेशन पर भी फोकस करें। जब मेकअप से जुड़ी ये बातें परफेक्ट होंगी, तो मेकअप नेचुरल और स्मूद दिखायी देगा। 

मेकअप बेस

– फाउंडेशन वही लगाएं, जो स्किन टोन से मैच करता हुआ हो। फाउंडेशन स्किन टोन से जितनी अच्छी तरह मैच करेगा, मेकअप उतना ही नेचुरल दिखेगा, इसीलिए पाउडर फाउंडेशन के लिए ब्रश और लिक्विड फाउंडेशन के लिए ब्यूटी ब्लेंडर पफ का इस्तेमाल करें। इससे फाउंडेशन एकसार लगेगा और पैची नहीं दिखेगा। 
– इंडियन स्किन टोन पर आइवरी शेड सबसे अच्छा माना जाता है। अगर डे फंक्शन के लिए रेडी हो रही हैं, तो एसपीएफ युक्त फाउंडेशन लगाएं। 
– अगर सेंसेटिव स्किन है, तो मिनरल फाउंडेशन लगाना सही है। वॉटर बेस्ड फाउंडेशन ऑइली स्किन के लिए सही है। ईवनिंग मेकअप के लिए शिमरयुक्त फाउंडेशन स्किन पर एक्स्ट्रा ग्लो करता है। इसे लगाने से पहले चेहरे पर जहां दाग-धब्बे हैं, वहां कंसीलर स्टिक लगाएं और अच्छी तरह से ब्लेंड करें। 
– ड्राई स्किन हो, तो मॉइश्चराइजर लगाने के बाद फाउंडेशन लगाएं। अगर एसपीएफ युक्त फाउंडेशन नहीं है, तो फाउंडेशन लगाने से 10 मिनट पहले एसपीएफ लगाना ना भूलें।

आई मेकअप

– आंखों का मेकअप ज्यादा देर तक टिका रहे, इसके लिए आई प्राइमर लगाएं। ऊपर से लूज पाउडर लगाएं और एक्स्ट्रा पाउडर निकाल दें।
– आई शैडो पैलेट में से अपनी ड्रेस के साथ मैच करता हुआ आई शैडो चुनें। पहले आई शैडो आंखों के ऊपर लगाएं। आंखों की शेप को उभारने के लिए उसी आई शैडो का लाइट शेड ब्रो बोन पर लगाएं। 
– आंखों में काजल के 2 से 3 कोट लगाएं। इस बात का ध्यान रखें कि लोअर और अपर लाइन पर काजल लगाएं। 
– आई लाइनर लगाएं और कुछ देर बाद मस्कारा के 2 लाइट कोट लगाएं। अगर आंखें बड़ी हैं, तो आंखों के किनारों से आई लाइनर की नोक ना निकालें। इससे आंखें और भी बड़ी दिखेंगी। छोटी आंखों के किनारों से नोक निकाल सकती हैं। इससे फीचर शार्प और आंखें बड़ी दिखेंगी ।
– ईवनिंग मेकअप लगा रही हैं, तो डार्क आई शैडो का इस्तेमाल करें। जब भी दो शेड का एक साथ इस्तेमाल करें, अपनी ड्रेस, समय, अवसर और ड्रेस के कलर को भी ध्यान में रखें। 

ब्लश ऑन

– डे मेकअप और ईवनिंग मेकअप में ब्लश ऑन के अलग-अलग शेड इस्तेमाल किए जाते हैं। स्किन टाइप को देखते हुए क्रीम ब्लश और पाउडर ब्लश ऑन को ट्राई करें। रिच पिंक, वाॅर्म मोव, डीप पीच कलर मीडियम स्किन टोन पर अच्छे लगते हैं। 
– कोरल, पीच और ब्राउन डार्क स्किन टोन पर फबते हैं। फेअर स्किन टोन पर बेबी पिंक ब्लश ऑन अच्छा लगता है। दो घंटे में एक बार ब्लश ऑन का टचअप कर सकती हैं। इसके लिए ब्लेड्स का इस्तेमाल करें। 
– एक बार ब्लश ऑन का शेड तय हो जाए, तो एप्लिकेशन पर ध्यान दें। चीक बोन्स पर ब्लश ऑन का शेड उभर कर आता है। होंठों को ‘ओ’ कहने के अंदाज में गोल करें। चीक बोन्स उभरेंगे, जिस पर आसानी से ब्लशर ब्रश से लगाया जा सकता है। 

लिपस्टिक

– होंठों की शेप को डिफाइन करने के लिए लिपस्टिक लगाने से पहले लिप लाइनर होंठों पर लगाएं। इससे शेप उभरेगी। अब होंठों के बीच में लिप ग्लॉस लगाएं। इससे होंठ सॉफ्ट दिखेंगे और एक्स्ट्रा शाइन आएगी। 
–  होंठों पर अगर लिप ब्रश से लिप कलर लगाया जाए, तो होंठों पर लिपस्टिक ज्यादा अच्छी तरह से लगेगी और देर तक टिकेगी।
– रेड, मैरून, रस्ट, पिंक, ऑरेंज, मोव और ब्राउन ऐसे शेड्स हैं, जो इंडियन स्किन टोन पर खूब फबते हैं। ईवनिंग मेकअप में शिमर लिप कलर ट्राई करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.