खेल

विराट कोहली के टेस्ट कप्तानी छोड़ने पर सौरव गांगुली : यह उसका निजी फैसला

डेस्क : पूर्व भारतीय कप्तान और बीसीसीआई के वर्तमान अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने विराट कोहली (Virat Kohli) के शनिवार रात टेस्ट कप्तान पद से इस्तीफा देने के फैसले पर रविवार को प्रतिक्रिया दी है। गांगुली का कहना है कि ये कोहली का निजी फैसला है, जिसका बीसीसीआई सम्मान करती है।

पूर्व दिग्गज ने ट्वीट किया, “विराट के नेतृत्व में भारतीय क्रिकेट ने खेल के सभी फॉर्मेट में तेजी से प्रगति की है .. उनका निर्णय निजी है और बीसीसीआई इसका बहुत सम्मान करता है .. वो भविष्य में इस टीम को नई ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए एक महत्वपूर्ण सदस्य होंगे। एक महान खिलाड़ी। बहुत बढ़िया।”

खबर है कि कोहली ने टेस्ट कप्तानी छोड़ने का फैसला लेने से पहले गांगुली से कोई चर्चा नहीं की थी। मुमकिन है कि ये कोहली के टी20 कप्तानी छोड़ने के फैसले को लेकर हुई खींचातानी का नतीजा हो।

दरअसल दक्षिण अफ्रीका दौरे से पहले बीसीसीआई ने टी20 कप्तानी छोड़ चुके विराट कोहली को वनडे कप्तान से पद से हटाने का फैसला किया था, जिसके पीछे बोर्ड का तर्क ये था कि सीमित ओवर फॉर्मेट में दो कप्तान नहीं हो सकते।

इस दौरान बोर्ड अध्यक्ष गांगुली ने बयान दिया था कि उन्होंने कोहली को विश्व कप के बाद टी20 फॉर्मेट की कप्तानी छोड़ने से मना किया था लेकिन जब कोहली नहीं माने तो बीसीसीआई वनडे टीम का कप्तान बदलने पर मजबूर हुई।

हालांकि कोहली ने दक्षिण अफ्रीका रवाना होने से पहले हुई प्रेस कॉन्फेंस के दौरान गांगुली के इस बयान को पूरी तरह खारिज किया। कोहली ने साफ कहा कि बीसीसीआई की तरफ से किसी ने भी उनसे इस मुद्दे पर बात नहीं की थी और वनडे कप्तान पद से हटाए जाने की जानकारी उन्हें बोर्ड मीटिंग से एक घंटे पहले ही दी गई थी।

मामले तब और भी बढ़ गया जब 31 दिसंबर को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज के लिए भारतीय स्क्वाड का ऐलान करने से पहले मुख्य चयनकर्ता चेतन शर्मा ने गांगुली के शब्दों को दोहराया और कहा कि बोर्ड प्रशासकों ने कोहली को टी20 कप्तानी छोड़ने से रोकने का प्रयास किया था लेकिन ये भारतीय दिग्गज बल्लेबाज अपने फैसले पर अड़ा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.