राष्ट्रीय

केंद्रीय शिक्षा राज्य मंत्री अन्नपूर्णा देवी पर एफआईआर दर्ज करने का आदेश

डेस्क : केंद्रीय शिक्षा राज्य मंत्री अन्नपूर्णा देवी पर एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया गया है. यह आदेश धनबाद की अदालत ने दिया है. धनबाद की अदालत ने दायर शिकायतवाद पर अधिवक्ता एचएन सिंह की दलील सुनने के बाद मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी संजय कुमार सिंह की अदालत ने धनबाद पुलिस को एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया है. धनबाद कोर्ट में केंद्रीय शिक्षा राज्य मंत्री अन्नपूर्णा देवी तथा अन्य के विरुद्ध कोविड प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने का मुकदमा दर्ज कराया है. धनबाद की कोर्ट में अन्नपूर्णा देवी के खिलाफ दायर किये गये शिकायतवाद में कहा गया है कि शिक्षा राज्यमंत्री ने यह जानते हुए कि कोविड-19 विश्वव्यापी महामारी है, जिससे पूरा विश्व प्रभावित है. 19 अगस्त 2021 को अन्नपूर्णा देवी एवं उनके साथ अन्य लोगों ने धनबाद के कई स्थानों पर भीड़ एकत्र करने का कार्य किया और जन आशीर्वाद यात्रा कार्यक्रम किया.

कोरोना प्रोटोकॉल के उल्लंघन का आरोप

अन्नपूर्णा देवी पर धनबाद के रहने वाले मोहम्मद कलाम आजाद ने शिकायतवाद दर्ज किया है. अपने शिकायतवाद में कलाम ने आरोप लगाया है कि केंद्रीय शिक्षा राज्य मंत्री अन्नपूर्णा देवी को पता था कि देश कोरोना संकट के दौर से गुजर रहा है. यह लोगों से मिलने जुलने पर कोरोना वायरस फैलने का खतरा बढ़ जाता है इसके बावजूद उन्होंने सैकड़ों लोगों की भीड़ को एकत्रित किया और जन आशीर्वाद यात्रा निकाली. इस तरह से अन्नपूर्णा देवी ने लोगों के जीवन में संकट में डालने का काम किया है. इसके कारण धनबाद के लोग काफी डर गये. इतना नहीं सब कुछ जानते हुए भी धनबाद जिला प्रशासन ने केंद्रीय मंत्री को आशीर्वाद यात्रा निकालने की अनुमति दी, उन्हें रोका नहीं गया. इसके बाद धनबाद के मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी संजय कुमार सिंह की अदालत ने धनबाद थाने को केंद्रीय शिक्षा राज्य मंत्री अन्नपूर्णा देवी समेत अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *