स्थानीय

पटना : डबल डेकर फ्लाईओवर का सीएम नीतीश ने किया शिलान्यास

पटना : राजधानी में डबल डेकर फ्लाईओवर का निर्माण हो रहा है. करगिल चौक से साइंस कॉलेज तक पटना का पहला डबल डेकर फ्लाईओवर बनने जा रहा है. शनिवार को बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद और पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन के साथ इस डबल डेकर फ्लाईओवर का शिलान्यास किया.

गांधी मैदान के पास कारगिल चौक से साइंस कॉलेज तक 422 करोड़ की लागत से पहला डबल डेकर फ्लाईओवर बनाया जा रहा है. इसकी लंबाई 2.198 किलोमीटर है. सड़क निर्माण विभाग के आदेश पर बिहार राज्य पुल निर्माण निगम लिमिटेड (बीआरपीएनएनएल) के अधिकारियों ने कारगिल चौक के पास होने वाले शिलान्यास समारोह की पूरी तैयारी की. यहां मुख्यमंत्री ने डिप्टी सीएम और पथ निर्माण मंत्री के साथ इस डबल डेकर फ्लाईओवर की नींव रखी. इस समारोह में पथ निर्माण विभाग के अपर मुख्य सचिव अमृतलाल मीणा समेत विभाग के अधिकारी और दूसरे जनप्रतिनिधि भी उपस्थित थे.

पथ निर्माण विभाग के अधिकारियों के अनुसार अशोक राजपथ पर कारगिल चौक से पीएमसीएच होकर साइंस कॉलेज तक डबल डेकर फ्लाईओवर का निर्माण किया जा रहा है. 3 साल के भीतर निर्माण कार्य पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है.  इसके बनने से अशोक राज पथ को जाम से मुक्ति मिलने की संभावना है. मिली जानकारी के अनुसार डबल डेकर फ्लाईओवर के पहले तल्ले पर आने की व्यवस्था होगी जबकि दूसरे तल्ले पर जाने की व्यवस्था की जाएगी. कारगिल चौक से साइंस कॉलेज की ओर दूसरे तल्ले से लोग जा सकेंगे जबकि साइंस कॉलेज से कारगिल चौक आने के लिए पहले तल्ले का उपयोग किया जाएगा.

इस फ्लाईओवर में तीन जंक्शन भी बनाए जाएंगे. यह जंक्शन कारगिल चौक, कृष्णा घाट और एनआईटी मोड़ के समीप बनाए जाएंगे. इस फ्लाईओवर की संपर्कता कारगिल चौक, पीएमसीएच, कृष्णा घाट, एनआईटी, लॉ कॉलेज और महेंद्रू से होगी. फ्लाईओवर के नीचे सर्विस रोड का भी प्रावधान किया जाना है. इससे डबल डेकर फ्लाईओवर के साथ ही जमीन से भी गुजरने वाली गाड़ियों की आवाजाही आसानी से संभव हो सकेगी. पीएमसीएच आने-जाने वाले मरीजों को किसी तरह की कोई असुविधा ना हो इसके लिए पूरा ध्यान रखा गया है. निर्माणाधीन जेपी गंगा पथ परियोजना को भी अशोक राजपथ के इस फ्लाईओवर से जोड़ने का प्लान तय किया गया है. इससे गायघाट पटना सिटी और कच्ची दरगाह तक जेपी गंगा पद के माध्यम से यातायात का परिचालन आसान हो जाएगा.

बिहार में छपरा में पहले डबल डेकर फ्लाईओवर का निर्माण हो रहा है. राजधानी पटना के पहले छपरा में बन रहे डबल डेकर पुल का निर्माण कार्य पूरा कर कर शुरू किया जाएगा. छपरा का डबल डेकर ब्रिज बिहार का पहला ऐसा पुल होगा, जिस पर दोपहिया और चार पहिया वाहनों का आवागमन होगा. दरअसल 12 सितम्बर 2017 को कैबिनेट की मंजूरी मिलने के बाद 11 जुलाई 2018 के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने छपरा में देश के सबसे लंबे (3.5 किमी) डबल डेकर पुल की नींव रखी थी.

छपरा को जाम की समस्या से मुक्ति दिलाने के लिए भी दो मंजिला पुल काफी कारगर साबित होने वाला है. 411.33 करोड़ की लागत से बनने वाले छपरा के डबल डेकर पुल का निर्माण कार्य जून 2022 तक पूरा किए जाने की उम्मीद है. छपरा के दो मंजिला पुल में 300 मीटर के दो छोटे रैंप बनाए जाएंगे और इसके ऊपरी डेकर का लंबाई 3520 मीटर और निचले डेकर की लंबाई 2500 मीटर की होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.