अजब-गजब

पटना : कोरोना छीन चुका था बीमार पिता की सांसें, मासूम बेटी को नहीं चला पता, दोस्त के वीडियो कॉल के बाद सामने आई दर्दनाक कहानी

पटना : रामकृष्ण नगर के मधुबनी कॉलोनी में बीमार पिता से लिपटकर छह साल की बेटी पूरी रात सोती रही, लेकिन उसे पता तक नहीं चला कि उसके पिता अब इस दुनिया में नहीं हैं। इस बात से बेखबर बच्ची ने भूख लगने के बाद सुबह उठकर बिस्किट खाया और फिर मोबाइल पर वीडियो गेम खेलने लगी | तभी बच्ची के पिता के दोस्त ने हाल लेने के लिए वीडियो कॉलिंग की तो बच्ची ने बताया कि पापा सोए हुए हैं, उठ नहीं रहे हैं। वीडियो कॉलिंग करने वाले साथी ने मोबाइल का स्क्रीन पापा के सामने करने को कहा तो बेटी मोबाइल पापा के पास ले गई, लेकिन जब कोई हरकत नहीं दिखी, तब मृतक के साथी ने कोविड हेल्पलाइन को फोन किया।

सूचना पर पहुंची पुलिस व प्रशासन की टीम ने कोरोना पॉजिटिव मानकर कोविड प्रोटोकॉल के तहत अंतिम संस्कार कराया। बच्ची को मां की अनुपस्थिति में फिलहाल मकान मालिक को सौंप दिया गया है। बच्ची की भी कोरोना जांच कराई जाएगी। उसके बाद उसे परिजनों के हवाले किया जाएगा। मृतक के अंतिम संस्कार में मकान मालिक भी घाट पर गए थे। ऐसा माना जा रहा है कि प्रभात की मौत मंगलवार की रात ही हो गई थी, लेकिन इस बात से बच्ची बेखबर थी और रातभर अपने पिता से लिपटकर सोती रही।

बताया जाता है कि मृतक नालंदा के इस्लामपुर के रहनेवाले थे, जिनकी पहचान प्रभात कुमार के रूप में हुई। प्रथमदृष्टया कोरोना से मौत होना कारण बताया गया। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है। प्रभात कुमार रामकृष्ण नगर के रोड नंबर 5 में मनोहर के मकान में किरायेदार थे। पटना जंक्शन पर हार्डवेयर की दुकान चलाते थे। बताया जा रहा है कि पत्नी अपने मायके बिहटा में रहती है। पत्नी की प्रभात से अनबन चल रही थी। प्रभात अपनी छह साल की बेटी के साथ रहते थे। तीन दिन पहले जब वह दुकान पर नहीं आए, तो उनके मित्र राजेश ने उन्हें फोन किया। प्रभात ने बताया कि उसकी तबीयत ठीक नहीं है। बुखार है और सांस लेने में परेशानी भी हो रही है। इस पर दोस्त ने उन्हें आराम करने की सलाह दी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *