Uncategorized

दरभंगा : 20 घंटे तक घर में पड़ा रहा कोरोना मरीज का शव, पत्नी-बच्चों की चित्कार सुन मोहल्ले वालों ने बंद किए दरवाजे

दरभंगा : शहर में कोरोना संक्रमित 45 वर्षीय एक व्यक्ति की घर में मौत हो गई। मौत के बाद पत्नी और बच्चे घर में ही करीब 20 घंटे तक बिलखते रहे, लेकिन किसी ने मदद नहीं की। मौत की खबर सुन पड़ोसियों ने घर का दरवाजा बंद कर लिया है। बाद में एक समाजसेवी के सहयोग से प्रशासन की टीम मौके पर पहुंची और शव का अंतिम संस्कार किया है।

मामला नगर थाना क्षेत्र के वार्ड नंबर 27 के गंगासागर मोहल्ले की है, जहां किराये के दो मंजिला मकान में कोरोना से संक्रमित होकर 45 वर्षीय व्यवसायी अपने घर में ही आइसोलेशन में थे। घर में ही वो रहकर अपना इलाज कर स्वयं को ठीक करने में जुटे थे। अचानक घर में तबीयत बिगड़ गई और 23 अप्रैल की रात उनकी मौत हो गई। घर में सिर्फ पत्नी और तीन बच्चे थे। पति की मौत के बाद सभी लोगों का रो-रोकर बुरा हाल था।

पड़ोसियों से मांगती रहीं मदद

वह लगातार आसपास के लोगों से मदद मांग रही थीं। साथ ही, अंतिम संस्कार करने के लिए गुहार लगा रही थीं। 20 घंटे तक परिवार के लोग घर में बिलखते रहे लेकिन किसी ने मदद नहीं की। अंत में जब इस ह्रदय विदारक घटना की सूचना समाजसेवी नवीन सिन्हा तक पहुंची तो उन्होंने परिवार की मदद को लेकर प्रयास शुरू किया। जिला प्रशासन के साथ उन्होंने नगर आयुक्त से संपर्क किया। उसके बाद स्वास्थ्य विभाग का एक कर्मी शव को सैनिटाइज करने पहुंचा।

इसके बाद मृतक के एक मात्र रिश्तेदार, मकान मालिक, समाजसेवी नवीन सिन्हा और राजू राम ने शव को दो मंजिला मकान से उतारकर एंबुलेंस में रखा। इस दौरान अगल-बगल के सभी घरों के दरवाजे बंद रहे और कोई मदद को आगे नहीं आया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *