Uncategorized

भारत बायोटेक : राज्य सरकार को 600 और प्राइवेट अस्पताल को 1200 रुपए में मिलेगी कोवैक्सीन

डेस्क : भारत बायोटेक इंटरनेशनल लिमिटेड ने शनिवार को कोरोना वायरस की वैक्सीन कोवैक्सीन (COVAXIN) के डोज की कीमतों की घोषणा कर दी है. कंपनी ने कहा है कि कहा केंद्र सरकार के निर्देशों के अनुसार हमने कीमतों का ऐलान किया है. कंपनी ने राज्य सरकार के लिए प्रति डोज 600 रुपए और निजी अस्पतालों के लिए 1,200 रुपए प्रति डोज कीमत रखी है.

एक बयान में कंपनी ने कहा कि कोवैक्सीन के निर्यात के लिए 15 से 20 डॉलर रखी गई है. कंपनी ने कहा कि हम भारत और दुनिया में चल रहे COVID-19 महामारी को लेकर बेहद चिंतित हैं. हम ईमानदारी से सभी की सुरक्षा और अच्छे स्वास्थ्य की कामना करते हैं.

भारत बायोटेक के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक कृष्णा एम एल्ला ने कहा कि उनकी कंपनी केन्द्र सरकार को 150 रुपये प्रति खुराक की दर से कोवैक्सीन की आपूर्ति कर रही है और केन्द्र अपनी ओर से यह वैक्सीन मुफ्त वितरित कर रहा है. एल्ला ने कहा, ‘‘हम यह बताना चाहते हैं कि कंपनी की आधी से अधिक उत्पादन क्षमता, केन्द्र सरकार को आपूर्ति के लिए आरक्षित की गई है.’’ उन्होंने कहा कि कोविड चिकनगुनिया, जीका, हैजा और अन्य संक्रमणों के लिए वैक्सीन विकसित करने की दिशा में आगे बढ़ने के लिए जरूरी है कि वैक्सीन की लागत वसूल हो.

कोविशील्ड वैक्सीन ने लिए तय की गई यह कीमत

इससे पहले पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) ने इस सप्ताह की शुरुआत में कोविशील्ड वैक्सीन की कीमत राज्य सरकारों और केंद्र सरकार के साथ किसी नए करार के लिए 400 रुपये प्रति खुराक और निजी अस्पतालों के लिए 600 रुपये प्रति खुराक तय की थी. एसआईआई एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन कोविशील्ड का विर्निमाण करती है. वह इस समय केंद्र सरकार को 150 रुपए प्रति खुराक की दर से वैक्सीन की आपूर्ति कर रही है.

सरकार प्राइवेट अस्पतालों पर रखेगी नजर

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार टीकाकरण के लिए निजी अस्पतालों द्वारा ली जाने वाली कीमतों पर नजर रखी जाएगी. अभी निजी टीकाकरण केंद्रों को सरकार से टीकों की खुराक मिलती हैं और वे 250 रुपये प्रति खुराक तक वसूल करती हैं. टीका कंपनियां सेंट्रल ड्रग्स लेबोरेटरी (सीडीएल) द्वारा मंजूर टीकों की 50 प्रतिशत आपूर्ति भारत सरकार को करेंगी और शेष 50 प्रतिशत खुराकों की आपूर्ति राज्य सरकारों को और खुले बाजार में करने के लिए स्वतंत्र होंगी. भारत सरकार के टीकाकरण केंद्रों के लिए पात्रता वहीं होगी जो अभी है. इसमें स्वास्थ्य कार्यकर्ता, अग्रिम पंक्ति के योद्धा और 45 वर्ष से अधिक आयु के लोग शामिल हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *