अंतरराष्ट्रीय

इंटरपोल : आपराधिक संगठन नकली कोरोना वैक्सीन की कर सकते हैं बिक्री

डेस्क : दुनियाभर में तेजी से कोरोना वायरस का संक्रमण फैल रहा है और भारत समेत तमाम देशों में रोजाना कोरोना के हजारों मामले सामने आ रहे हैं. कोरोना के संक्रमण के बीच कोरोना वैक्सीन की पॉजिटिव खबरों ने नागरिकों को राहत दी है और उम्मीद जताई जा रही है कि अगले दो से तीन महीने में कोरोना वायरस की वैक्सीन का इंतजार खत्म हो जाएगा. इस बीच इंटरपोल ने वैक्सीन को लेकर दुनिया के लगभग सभी देशों को बड़ी चेतावनी जारी की है. इंटरपोल ने विश्व के 194 देशों को कोरोना वैक्सीन को लेकर ऑरेंज नोटिस जारी किया है. दरअसल, इंटरपोल ने अपनी चेतावनी में कहा कि जब से कोरोना वैक्सीन खबर आ रही हैं तभी से कोरोना वैक्सीन को लेकर कई फेक एजेंसिया वैक्सीन के फेक विज्ञापन और बिक्री की प्लानिंग कर रहे हैं. इंटरपोल ने दुनियाभर के देशों में काम करने वाली कानून प्रवर्तन एजेंसियों को इस बात के लिए चेतावनी दी है कि कई आपराधिक संगठन सोशल मीडिया और ऑफलाइन के माध्यम से कोरोना वैक्सीन का फेक प्रचार कर सकते हैं. इसके साथ ही कहा यह भी कहा गया कि आपराधिक संगठन नकली कोरोना वैक्सीन की बिक्री भी कर सकते हैं. जानकारी के अनुसार इंटरपोल की तरफ से यह भी कहा गया कि कोरोना वैक्सीन को जल्दी में लगवाने की आपाधापी में लोगों से ठगी का धंधा भी शुरू हो सकता है. नकली वैक्सीन को असली वैक्सीन बताकर आपराधिक संगठन लोगों से भारी पैसा वसूल सकते हैं. इंटरपोल की तरफ से कहा गया है कि आपराधिक संगठन जानते हैं कि जनता कोरोना से बचने के लिए पहले वैक्सीन की डोज चाहते हैं और वह किसी भी किमत में पहले वैक्सीन पाना चाहती हैं और इसी का फायदा उठाकर कई लोग नकली वैक्सीन की बिक्री कर सकते हैं. इंटरपोल ने बुधवार को सभी 194 सदस्य देशों को ऑरेंज नोटिस दिया जिसमें ल्योन स्थित अंतर्राष्ट्रीय पुलिस सहयोग संस्था ने एजेंसियों को कोरोना और फ़्लू टीके के फेक और अवैध विज्ञापन के आपराधिक गतिविधी की चेतावनी दी है. आपको बता दें कि ब्रिटेन में Pfizer-BioNTech की वैक्सीन को अगले सप्ताह से इमर्जेंसी इस्तेमाल के लिए मंजूरी दे दी गई है और अब यह उम्मीद की जा रही है कि अगले महीने तक यह वैक्सीन भारत आ सकती है. ब्रिटेन दुनिया का पहला ऐसा देश है जिसे वैक्सीन के एमरजेंसी इस्तेमाल की इजाजत मिली है.  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *