राष्ट्रीय

महाकाल मंदिर के गार्ड ने शक होने पर विकास दुबे को पकड़ा : उज्जैन पुलिस

डेस्क : कानपुर शूटआउट के मुख्य आरोपी विकास दुबे को उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार कर लिया गया है. सवाल उठ रहा है कि विकास दुबे को गिरफ्तार किया गया या उसने सरेंडर किया है. हालांकि, मध्य पुलिस की थ्योरी के अनुसार विकास दुबे को बकायदा गिरफ्तार किया गया है. उसने आत्मसमर्पण नहीं किया है.

उज्जैन के डीएम आशीष सिंह का कहना है कि आज सुबह 7.30 और 8 बजे के बीच एक संदिग्ध शख्स को महाकाल मंदिर परिसर में देखा गया. उसने मंदिर के दर्शन को लेकर एक दुकानदार सुरेश से जानकारी ली थी और पूजा के सामान को खरीदा. दुकानदार को शक हुआ. इसके बाद दुकानदार ने गार्ड को बताया.
शख्स ने दर्शन के लिए 250 रुपये की पर्ची कटाई. महाकाल मंदिर से बाहर निकलने के बाद गार्ड ने शख्स से पूछताछ की, जिसके बाद वह हाथापाई करने लगा. इस मामले की खबर स्थानीय पुलिस को दी गई. पुलिस ने शख्स को गिरफ्तार किया औैर उसकी पहचान विकास दुबे के रूप में हुई.

डीएम आशीष सिंह ने कहा कि स्थानीय पुलिस ने विकास दुबे की पुष्टि की और उच्च अधिकारियों को बताया. इसके बाद मौके पर उच्च अधिकारी पहुंचे और विकास दुबे को गिरफ्तार करके अज्ञात जगह पर पूछताछ के लिए ले जाया गया है. इस बीच यूपी पुलिस की टीम भी उज्जैन के लिए रवाना हो गई है.

उज्जैन पुलिस ने विकास दुबे को गिरफ्तार करने का दावा किया, लेकिन कुछ अन्य सूत्रों के मुताबिक, विकास दुबे ने सरेंडर किया है. विकास दुबे सुबह करीब 8 बजे मंदिर के गार्ड के पास पहुंचा और बताया कि मैं विकास दुबे हूं, कानपुर वाला.
इसके बाद गार्ड ने स्थानीय पुलिस को सूचना दी. स्थानीय पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया. पुलिस की गिरफ्तारी के दौरान वह चिल्लाता रहा- मैं विकास दुबे हूं, कानपुर वाला, मुझे पकड़ लिया गया है. बताया जा रहा है कि एनकाउंटर के खौफ से विकास दुबे ने सरेंडर किया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *