स्थानीय

दरभंगा : संस्कृत विवि में आंशिक संशोधन के बाद एकसाथ छह सेमेस्टर का पाठ्यक्रम अनुमोदित

संकायाध्यक्षों की बैठक में लिया गया निर्णय

दरभंगा (नासिर हुसैन)। संस्कृत विश्वविद्यालय में कुलपति प्रो. लक्ष्मी निवास पांडेय की अध्यक्षता में आयोजित संकायाध्यक्षों की बैठक में आंशिक संशोधनों के साथ चार वर्षीय शास्त्रीय पाठ्यक्रम के सेमेस्टर तीन से आठ के नवनिर्मित पाठ्यक्रमों को अनुमोदित कर दिया गया। अब इसे आगामी अकादमिक परिषद की बैठक में प्रस्तुत किया जाएगा। विहित प्रक्रिया के तहत विश्वविद्यालय के अन्य सांविधिक निकायों की हरी झंडी मिलते ही स्वीकृति के लिए पाठ्यक्रम के मसौदे को जल्द ही राजभवन भेजा जाएगा। जानकारी देते हुए पीआरओ निशिकान्त ने बताया कि 31 मई को ही प्राधिकार शाखा में डॉ. सुरेश्वर झा की अध्यक्षता में डीएसडब्ल्यू डॉ. शिवलोचन झा के संयोजकत्व में सभी विभागाध्यक्षों एवं पाठ्यक्रम निर्माण समिति सदस्यों की अहम बैठक हुई थी, जिसमें सभी ने गहन मंथन कर सेमेस्टर तीन से आठ तक के नवनिर्मित पाठ्यक्रमों के फाइनल ड्राफ्ट पर मुहर लगा दी थी। बैठक में निर्णय हुआ था कि अब इसे संकायाध्यक्षों से भी अनुमोदित करा लिया जाए। इसी आलोक में बैठक आहूत की गई थी। बैठक में अवलोकन के पश्चात सामूहिक निर्णय लिया गया कि पाठ्यक्रमों में कुछ संशोधन अपेक्षित है।
बता दें कि डीएसडब्ल्यू डॉ. शिवलोचन झा के संयोजन में आयोजित संकायाध्यक्षों की बैठक में कुलपति प्रो पांडेय के अलावा डॉ. दिलीप कुमार झा, डॉ. रेणुका सिंहा, डॉ. अनिल कुमार ईश्वर, डॉ. विनय कुमार मिश्र, डॉ. शम्भू शरण तिवारी के साथ पाठ्यक्रम निर्माण समिति सदस्य डॉ. वरुण कुमार झा एवम डॉ. यदुवीर स्वरूप शास्त्री ने भाग लिया। नवनियुक्त कुलसचिव प्रो. ब्रजेशपति त्रिपाठी भी उपस्थित थे।

 

NEWS WATCH