प्रादेशिक

बिहार DGP गुप्तेश्वर पांडेय : थानेदार का पीड़ित के साथ अभद्र व्यवहार बर्दाश्त नहीं

पटना : बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा है कि कोई भी थानेदार पीड़ित के साथ गाली-गलौज या अभद्र भाषा का प्रयोग करेगा यह बर्दाश्त नहीं। उन्होंने कहा कि भले ही थानेदार कई तरह के तनाव से गुजरते हैं, लेकिन इसकी कतई इजाजत नहीं दी जा सकती कि अगर कोई थाने में आए तो उसके साथ अभद्र व्यवहार किया जाए। अगर कोई थानेदार ऐसा करता है तो उससे पूरे पुलिस महकमे की बदनामी होती है |

बता दें कि डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय गोपालगंज के कटेया में चर्चित रोहित जायसवाल हत्याकांड की जांच करने खुद हीं घटनास्थल पर गए थे। उन्होंने कटेया में रोहित जायसवाल की हत्या से जुड़े हर पहलू की गहराई से जांच की । इसके बाद तत्काल थानेदार को सस्पेंड किया और एक-एक बिंदु पर पुलिस की तरफ से सफाई दी।

फेसबुक के माध्यम से लोगों को बताया

इसके बाद आज फेसबुक के माध्यम से लोगों को बताया कि उन्होंने इस कांड की तहकीकात की है। मामला हत्या का है या फिर नदी में डूबने का, पुलिस अनुसंधान कर रही है। डीजीपी ने साफ कहा है कि अफवाह उड़ाया गया कि मस्जिद के लिए बच्चे की हत्या की गई है, जो पूरी तरह से गलत है। अफवाह उड़ाकर सांप्रदायिक तनाव पैदा करने की कोशिश की गई है।

डीजीपी ने कहा कि रोहित की हत्या के बाद मां फरियाद लेकर कटेया थाना में थानेदार के पास पहुंची थी। लेकिन, थानेदार ने उसके साथ अभद्र व्यवहार किया था। मामला सामने आने के बाद उन्होंने सबसे पहले थानेदार को निलंबित कर दिया। वह किसी थानेदार को इजाजत नहीं दे सकते कि अगर कोई पीड़ित थाने में आता है, तो उसके साथ अभद्र व्यवहार किया जाए।अगर कोई करता है तो उसपर कार्रवाई होगी।
बता दें कि बेटे को खोने के बाद जब मां कटेया थाने में फरियाद लेकर गई थी, तो थानेदार ने उल्टे महिला के साथ गाली-गलौज कर थाने से भगा दिया था। वीडियो सामने आने के बाद पुलिस मुख्यालय ने संज्ञान लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *