प्रादेशिक

एक करोड़ की रंगदारी का केस दर्ज होने पर भड़के पप्पू यादव, बोले- SC की निगरानी में हो जांच, दोषी को दी जाए फांसी

पूर्णिया : निर्दलीय नवनिर्वाचित सांसद पप्पू यादव के खिलाफ जबरन वसूली का केस दर्ज हुआ है. उन पर एक बड़े फर्नीचर व्यवसाई ने एक करोड़ रुपए की रंगदारी मांगने का आरोप लगाया है. इस मामले पर अब पप्पू यादव का जवाब भी सामने आया है. उन्होंने सोशल साइट एक्स पर लिखा कि देश-प्रदेश की राजनीति में मेरे बढ़ते प्रभाव और आम लोगों के बढ़ते स्नेह से कुछ लोगों को बहुत परेशानी हो रही है. इस वजह से आज पूर्णिया में मेरे खिलाफ ऐसा घृणित षड्यंत्र रचा गया है.

पप्पू यादव ने आगे कहा है कि एक अधिकारी और विरोधियों के इस साजिश को मैं पूरी तरह से बेनकाब करूंगा. इस मामले की सुप्रीम कोर्ट के अधीन निष्पक्ष जांच करवाई जाए, जो दोषी हो उसे फांसी दे दी जाए.

दरअसल, पीड़ित फर्नीचर व्यवसाई ने पुलिस में दर्ज अपनी शिकायत में कहा है कि मतगणना वाले दिन (4 जून 2024) को पप्पू यादव ने उसे अपने घर बुलाया था. इस दौरान उससे एक करोड़ रुपये की मांग की गई थी. साथ ही यह धमकी भी दी गई थी कि अगर पैसे नहीं मिले तो उसे जान से मार दिया जाएगा. अगले 5 साल तक पप्पू यादव पूर्णिया के सांसद रहने वाले हैं और उसे तब तक उनसे निपटते रहना होगा.

फिलहाल, फर्नीचर व्यवसायी की शिकायत के बाद नवनिर्वाचित सांसद पप्पू यादव और उनके करीबी अमित यादव के खिलाफ मुफस्सिल थाने में एफआईआर दर्ज की गई है. पुलिस अब इस मामले में जांच कर रही है.

 

NEWS WATCH