स्थानीय

संसाधन पुरुषों की गैर-मौजूदगी में प्रशंसा किसी भी कार्यशाला की सफलता का सूचक : डॉ. संतन कुमार राम

डॉ. जाकिर हुसैन टीचर्स ट्रेंनिंग कॉलेज स्थित इग्नू के लर्नर सपोर्ट सेंटर के अधीन 12 दिवसीय बीएड कार्यशाला संपन्न

दरभंगा : स्थानीय डॉ. जाकिर हुसैन टीचर्स ट्रेंनिंग कॉलेज स्थित इग्नू के लर्नर सपोर्ट सेंटर के अधीन आज 12 दिवसीय बीएड कार्यशाला का समापन कार्यक्रम हुआ। कार्यशाला वर्ष 2022 द्वितीय सत्र एवं 2023 प्रथम सत्र के लिए आयोजित थी।

कार्यशाला का आरंभ डॉ. फिरोज़ अकरम द्वारा तिलावत-ए-कुरान से हुआ, गुरु वंदना नीतू सिंह ने पेश की। दोनों सत्रों की छात्राओं द्वारा स्वागत गान की प्रस्तुति दी गई। सर्वप्रथम अध्ययन केंद्र के समन्वयक इरतजा अहमद द्वारा अतिथियों का स्वागत बुके, अंगवस्त्र एवं मोमेंटो पेश कर किया गया। इसके उपरांत इरतजा अहमद ने स्वागत भाषण दिया। इस दौरान उन्होंने कहा, ‘आपकी उपस्थिति प्रशिक्षुओं में एक नवीन ऊर्जा का संचार करेगी एवं नया हौसला देगी। अहमद ने कहा कि 12 दिवसीय बीएड कार्यशाला का उद्देश्य नवीन कौशलों के साथ व्यवहारिक लक्ष्य को प्राप्त करना है, ताकि सामाजिक ताने-बाने में हम अपनी भूमिका द्वारा नई दिशा स्थापित कर सकें।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि इग्नू दरभंगा क्षेत्रीय केंद्र के क्षेत्रीय निदेशक डॉ. संतन कुमार राम ने कहा कि बगैर संसाधन पुरुषों की मौजूदगी में उनकी प्रशंसा कार्यशाला की सफलता का सूचक है और इस बात का प्रमाण है कि एक टीम वर्क द्वारा आपको नवीन पेडागोजी से अवगत कराया गया है। उन्होंने आह्वान किया कि स्वयं को समझकर ही राष्ट्रहित में कार्य किया जा सकता है।

इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि क्षेत्रीय केंद्र के उपनिदेशक डॉ. आकाश अवस्थी ने कहा कि कर्तव्यों की पुष्टि के लिए कर्तव्यनिष्ठ होना आवश्यक है। हमें चाहिए कि वर्तमान में प्रासंगिक होने के लिए औद्योगिकता एवं संचार से मेल रखें। विशेष आमंत्रित अतिथि क़ारी मोहम्मद उस्मान ने अपने संबोधन में प्रशिक्षुओं का आह्वान करते हुए कहा, ‘आपके हाथों में देश का मुस्तक़बिल है, आप चाहें तो भारत को सोने की चिड़िया दोबारा बना सकते हैं।

इस अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रम की भी प्रस्तुति दी गई, जिसमें कविता पाठ प्रथम सत्र के प्रशिक्षु रणविजय कुमार, अभिनव कुमार एवं द्वितीय सत्र के प्रमोद कुमार, नीतू सिंह और मोनिका भारती द्वारा प्रस्तुत किया गया। प्रथम वर्ष के श्री बाबू एवं यश कुमार ने व्यंग्य द्वारा आज के माहौल को पेश किया। वर्तमान शैक्षिक व्यवस्था पर बोलते हुए सोमालिका एवं विनीता यादव ने खूब तालियां बटोरीं। मिंटू कुमार और प्रभाकर मिश्रा ने भी लतीफे सुनाकर पूरी सभा को जीवंत रखा। विदाई गीत नूर आलम द्वारा प्रस्तुत किया गया‌। धन्यवाद ज्ञापन डॉ. मंज़र सुलेमान एवं अध्यक्षीय भाषण डॉ. कल्याणी कुमारी द्वारा दिया गया। अंत में सभी प्रशिक्षुओं को अतिथियों द्वारा मोमेंटो एवं सर्टिफिकेट से सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का समापन राष्ट्रगान के साथ हुआ।

 

NEWS WATCH