प्रादेशिक

देश की पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस को सीएम योगी ने दिखाई हरी झंडी, लेट हुई तो IRCTC देगा हर्जाना

लखनऊ | लखनऊ जंक्शन से नई दिल्ली के लिए आईआरसीटीसी की पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। यह देश की पहली प्राइवेट ट्रेन है, जिसका संचालन पूर्ण रूप से आईआरसीटीसी करेगी। देश की पहली कारपोरेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस में पैसेंजरों के लिए विमानों जैसी सुविधाएं हैं। स्पेशल ट्रेन 00501 कानपुर व गाजियाबाद से होते हुए नई दिल्ली तक जाएगी, जबकि ट्रेन नियमित रूप से छह अक्टूबर से चलनी शुरू होगी।

लखनऊ से दिल्ली के लिए इसमें एसी चेयर कार का किराया 1,125 रुपये और एग्जीक्यूटिव चेयर कार का किराया 2,310 रुपये है। वहीं वापसी के सफर के लिए ये एसी चेयर कार के लिए 1,280 जबकि एग्जीक्यूटिव चेयर कार के लिए 2,450 है। लखनऊ के कानपुर का सफर एसी चेयर कार में महज 320 रुपये में पूरा किया जा सकेगा और एग्जीक्यूटिव चेयर कार के लिए 630 रुपये का किराया देना होगा। दिल्ली के कानपुर जाने कि लिए एसी चेयर कार का किराया 1,155 रुपये और एग्जीक्यूटिव चेयर कार का किराया 2,155 रुपये रहेगा। लखनऊ से गाजियाबाद के लिए एसी चेयर कार का किराया 1,125 रुपये और एग्जीक्यूटिव चेयर कार का किराया 2,310 रुपये देना होगा। ट्रेन लखनऊ से दिल्ली के सफर को 6 घंटे 15 मिनट में तय कर लेगी। लखनऊ से तेजस सुबह 6.10 बजे चलकर 12.25 बजे यात्रियों को दिल्ली पहुंचा देगी। ट्रेन बीच में सिर्फ कानपुर और गाजियाबाद में ही रुकेगी। ट्रेन लेट हुई तो IRCTC हर्जाना देगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *